Xiaomi Company को blacklist कर दिया गया है USA मे

Spread the love

चीनी मल्टीनेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी Xiaomi के साथ आठ अन्य चीनी फर्मों को अमेरिकी रक्षा विभाग ने एक निवेश सूची में डाल दिया है। यह कदम अमेरिकी निवेशकों को इन कंपनियों में निवेश करने से रोकता है।
मास्साब के अनुसार, अमेरिकी सरकार ने आरोप लगाया कि नौ प्रतिबंधित चीनी कंपनियों के चीनी सेना से संबंध हैं या उन पर नियंत्रण है। Xiaomi के अलावा , सूची में Comac भी शामिल है, जो एक विमान निर्माता है जिसने बोइंग और एयरबस के खिलाफ प्रतिस्पर्धा करने के लिए अमेरिका में एक कारखाना स्थापित करने की योजना बनाई है।

इस कदम के समय से, Xiaomi के शेयरों में शुक्रवार सुबह 11% की गिरावट आई है।
Xiaomi चीन की दूसरी सबसे बड़ी और दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी है। Mashable के अनुसार, क्वालकॉम की उद्यम पूंजी शाखा, क्वालकॉम वेंचर्स ने Xiaomi में निवेश किया है । यदि निर्णय को वापस नहीं लिया जाता है, तो सैन डिएगो स्थित चिपमेकर को नवंबर तक Xiaomi में अपनी हिस्सेदारी को विभाजित करना पड़ सकता है 
सभी मौजूदा अमेरिकी निवेशकों को भी 11 नवंबर, 2021 तक बैक लिस्टेड फर्मों में अपनी होल्डिंग बनानी होगी। हुआवेई पहले से ही इस ब्लैकलिस्ट का एक हिस्सा है। 

Xiaomi Redmi 9 Power आ गया है 6 GB वारिएंट के साथ

ऑयल कंपनी को रखा ब्लैक लिस्ट में

कॉमर्स डिपार्टमेंट ने चाइना नेशनल ऑफशोर ऑयल कॉरपोरेशन (CNOOC) को इकोनॉमिक ब्लैक लिस्ट में रखा है. इस लिस्ट में होने का मतलब है कि इसमें शामिल कंपनियों से तकनीक ट्रांसफर करने या एक्सपोर्ट करने के लिए अमेरिकी कंपनियों को अमेरिकी सरकार से मंजूरी लेनी होगी.

सीएनओओसी विवादित दक्षिणी चीन सागर ऑफशोर ड्रिलिंग करती है. इस क्षेत्र को लेकर वियतनाम, फिलीप्पींस, ब्रुनेई, ताइवान और मलेशिया के साथ चीन का विवाद चल रहा है. अमेरिकी कॉमर्स सेक्रेटरी विल्बर रॉस के मुताबिक दक्षिणी चीन सागर में चीन की हरकतों और सेंसिटिव इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी व तकनीक को लेने के लिए चीन की एग्रेसिव कोशिश अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा है.

रॉस के मुताबिक, इससे न सिर्फ अमेरिका को बल्कि पूरी दुनिया को खतरा हो सकता है. रॉस का कहना है कि सीएनओओसी पीपुल्स लिबरेशन ऑर्मी (PLA) के लिए बुली के तौर पर काम करता है जो चीन के पड़ोसी देशों को धमकी देने का काम करती है.

स्काईरिजोन को किया गया ब्लैकलिस्टेड

चीन की एक और सरकारी कंपनी स्काईरिजोन को इकोनॉमिक ब्लैकलिस्ट किया गया है. रॉस के मुताबिक इस कंपनी को विदेशी सैन्य तकनीक को हासिल करने की कोशिश कर रहा है. स्काईरिजोन एविएशन द्वारा 2017 में यूक्रेन्स मिलिट्री एयरक्राफ्ट इंजन मेकर मोटर सिच के टेक ओवर की कोशिशों के चलते अमेरिका ने इसकी आलोचना की थी. अमेरिका का कहना था कि एडवांस्ड एयरोस्पेस टेक्नोलॉजी इस्तेमाल सैन्य उद्देश्यों में किया जा सकता है.


Spread the love

Leave a Reply